Principle of Formation of Tihai(Hindi/English)

Principle of Formation of Tihai

In Indian Classical Music the origin of Taal is based on calculaltions  in which Tihai is an important unit. Tihai is used by each and every instrument, vocals and dance performance as well. When we play a group of phrases containing Dha in last three times without making any changes and it ends on SUM is called Tihai. It has many kinds like Bedum, Dumdar, Chakardar and so….

To make a simple Tihai we have to sum up the total number of matras and add one in it. Then we divide this total with 3 and what the answer comes is the one cycle of the Tihai. Now let us understand the basic calculations for the formation of a simple Tihai from 1 matra to 16 matra.

Rule for 1 matra Tihai : We have to play half matra bol three times.

Example : DHADHA DHA.

Rule for 2 matra Tihai : We have to play ¾ matra bol three times.

Example : KATDHA,KA   TDHA,KAT  DHA.

Rule for 3 matra Tihai : We have to play half matra bol three times with 1 matra pause.

Example : DHA-  -DHA  -  -  DHA.

Rule for 4 matra Tihai : We have to play 1½ matra bol three times.

Example : DHATI   DHA,DHA    TIDHA,     DHATI     DHA.

Rule for 5 matra Tihai : We have to play 1½ matra bol three times with half matra pause.

Example : DHATI   DHA,  -  DHATI   DHA,  -   DHATI   DHA.

Rule for 6 matra Tihai : We have to play 1 ½ matra bol three times with 1  matra pause.

Example :  DHATI   DHA,  -      -  DHA   TIDHA,     -  -    DHATI   DHA.

Rule for 7 matra Tihai : We have to play 2 ½ matra bol three times.

Example : TITKAT    GADIGENA    DHA,  - TIT   KATGADI        GENADHA, -    TITKAT      GADIGENA  DHA.

Rule for 8 matra Tihai : We have to play 2 ½ matra bol three times with half matra pause.

Example : TITKAT   GADIGENA     DHA, - - - TITKAT  GADIGENA   DHA, - - -     TITKAT   GADIGENA     DHA

Rule for 9 matra Tihai : We have to play 2 ½  matra bol three times with 1 matra pause.

Example : TITKAT   GADIGENA   DHA, - - -   ­ -  -  TIT    KATGADI   GENA DHA, -   - - --  TITKAT   GADIGENA   DHA.

Rule for 10 matra Tihai : We have to play  3 ½  matra bol three times.

Example : DHATIDHAGE   DHATIDHAGE     TINAKINA   DHA, –DHATI   DHAGEDHATI   DHAGETINA    KINA DHA,  -    DHATIDHAGE    DHATIDHAGE     TINAKINA   DHA.

Rule for 11 matra Tihai : We have to play  3 ½  matra bol three times half matra pause.

Example :  DHATIDHAGE   DHATIDHAGE     TINAKINA   DHA, - - - DHATIDHAGE   DHATIDHAGE     TINAKINA   DHA, - - - DHATIDHAGE   DHATIDHAGE     TINAKINA    DHA.

Rule for 12 matra Tihai : We have to play  3 ½  matra bol three times 1 matra pause.

Example :  DHATIDHAGE   DHATIDHAGE   TINAKINA   DHA, - - -   - - DHATI   DHAGEDHATI  DHAGETINA  KINADHA, -     - - - -  DHATIDHAGE   DHATIDHAGE  TINAKINA    DHA.

Rule for 13 matra Tihai : We have to play  4 ½  matra bol three times.

Example :DHATIDHAGE  TINAKINA  DHATIDHAGE  TINAKINA  DHA,  -    DHATIDHAGE    TINAKINA      DHATIDHAGE    TINAKINA     DHA,  -    DHATIDHAGE    TINAKINA     DHATIDHAGE     TINAKINA     DHA.

Rule for 14 matra Tihai : We have to play  5  matra bol three times.

Example : DHATI    DHAGE     TINA    KINA     DHA,  -   DHATI    DHAGE     TINA    KINA     DHA, -     DHATI   DHAGE     TINA    KINA     DHA.

Rule for 15 matra Tihai : We have to play  4 ½ matra bol three times with 1 matra pause.

Example : DHATI    DHAGE     TINA    KINA     DHA,  -    - DHA    TIDHA     GETI     NAKI     NADHA,     -   -   DHATI   DHAGE     TINA    KINA     DHA.

Rule for 16 matra Tihai : We have to play  5 ½ matra bol three times.

Example : DHATI    DHAGE     TINA    KINA     DHATI  DHA,DHA   TIDHA­   GETI  NAKI  NADHA   TIDHA,  DHATI   DHAGE     TINA    KINA     DHATI   DHA.

तिहाई बनाने के नियम

भारतीय संगीत में ताल का निर्माण गणित के आधार पर होता है जिसमे तिहाई एक महत्वपूर्ण इकाई है | तिहाई का प्रयोग प्रत्येक वाद्य,गायन एवं नृत्य शैली की प्रस्तुति में होता है | जब किसी धा युक्त बोल को बिना किसी बदलाव के तीन बार बजाया जाये और उसका समापन सम पर हो तो वो तिहाई कहलाती है | तिहाई कई प्रकार की होती है- बेदम,दमदार,चक्रदार.आदि...

एक साधारण तिहाई बनाने के लिए हम ताल की मात्राओं के कुल जोड़ में १ जोडकर उसे ३ से विभाजित कर लेते है | अब ये प्राप्त संख्या ही तिहाई के एक पल्ले कि मात्रा संख्या है | आईये अब १ मात्रा से १६ मात्रा की साधारण तिहाई के निर्माण-सिधांत पर चर्चा करें |

१ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए आधी मात्रा के बोल को तीन बार बजाना होगा |

उदाहरण : धाधा धा |

२ मात्रा की तिहाई का नियम: इसके लिए ३/४ मात्रा के बोल को तीन बार बजाना होगा |

उदाहरण : कतधा,   ­तधा,कत  धा |

३ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए आधी मात्रा के बोल को तीन बार १ मात्रा के विश्राम के साथ बजाना होगा |

उदाहरण : धा-  -धा  - -  धा |

४ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए डेढ़ मात्रा के बोल को तीन बार बजाना होगा |

उदाहरण : धाती   धा,धा    तिधा,     धाती     धा |

५ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए डेढ़ मात्रा के बोल को तीन बार आधी मात्रा के विश्राम के साथ बजाना होगा |

उदाहरण : धाती   धा,  -  धाती   धा,  -   धाती   धा.

६ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए डेढ़ मात्रा के बोल को तीन बार एक मात्रा के विश्राम के साथ बजाना होगा |

उदाहरण :  धाती   धा,  -      -  धा   तिधा,     -  -     धाती   धा.

७ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए ढाई मात्रा के बोल को तीन बार बजाना होगा |

उदाहरण : तिटकत    गदीगन    धा,  - तिट    कत गदी        गन धा,-    तिट कत      गदीगन  धा |

८ मात्रा की तिहाई का नियम: इसके लिए ढाई मात्रा के बोल को तीन बार आधी मात्रा के विश्राम के साथ बजाना होगा |

उदाहरण  : तिटकत   गदीगन     धा, - - - तिटकत   गदीगन     धा, - - -  तिटकत  गदीगन    धा |

९ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए ढाई मात्रा के बोल को तीन बार एक मात्रा के विश्राम के साथ बजाना होगा |

उदाहरण  : तिटकत  गदीगन  धा, - - -   ­ -  -  तिट     कत गदी   गनधा, -   - - --  तिटकत   गदीगन   धा |

१० मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए साढ़े तीन मात्रा के बोल को तीन बार बजाना होगा |

उदाहरण  : धातिधागे   धातिधागे     तिनाकिना    धा, –धाती  धागेधाती   धागेतिना    किना धा,  -     धाती धागे    धाती धागे    तिनाकिना   धा |

११ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए साढ़े तीन मात्रा के बोल को तीन बार आधी मात्रा के विश्राम के साथ बजाना होगा |

उदाहरण  : धाती धागे   धाती धागे    तिनाकिना  धा, - - - धाती धागे  धाती धागे     तिनाकिना    धा, - - - धाती धागे   धाती धागे    तिनाकिना    धा |

१२ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए साढ़े तीन मात्रा के बोल को तीन बार एक मात्रा के विश्राम के साथ बजाना होगा |

उदाहरण  :  धाती धागे   धाती धागे     तिनाकिना    धा, - - -   - -धाती    धागेधाती     धागेतिना      किनाधा, -     - - - -     धाती धागे  धाती धागे     तिनाकिना    धा |

१३ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए साढ़े चार मात्रा के बोल को तीन बार बजाना होगा |

उदाहरण  : धाती धागे    तिनाकिना     धाती धागे    तिनाकिना     धा,  -    धाती धागे    तिनाकिना      धाती धागे    तिनाकिना    धा,  -   धाती धागे    तिनाकिना      धाती धागे     तिनाकिना    धा |

१४ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए ५ मात्रा के बोल को तीन बार बजाना होगा |

उदाहरण : धाती   धागे     तिना    किना     धा, -    धाती   धागे    तिना    किना     धा, -    धाती   धागे     तिना    किना     धा  |

१५ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए साढ़े चार मात्रा के बोल को तीन बार एक मात्रा के विश्राम के साथ बजाना होगा |

उदाहरण : धाती   धागे    तीना   किना     धा,  -    धा    तिधा    गेती     नाकि    नाधा,    -   -   धाती    धागे     तिना    किना     धा |

१६ मात्रा की तिहाई का नियम : इसके लिए साढ़े ५ मात्रा के बोल को तीन बार बजाना होगा |

उदाहरण : धाती    धागे     तिना    किना     धाती   धा,धा   तिधा­  गेती  नाकि  नाधा   तिधा,  धाती    धागे    तिना    किना    धाती   धा |